NPR के बीच PM Modi के Detention Centre वाले बयान में कितना सच, कितना झूठ ?

Share it with your friends Like

असम ( Assam ) की 6 सेंट्रल जेलों में चल रहे हैं डिटेंशन सेंटर ( Detention Centre ) , 22 दिसंबर रविवार का दिल्ली के रामलीला मैदान ( Ramlela Madan ) में देश के प्रधानमंत्री मोदी ( PM Modi ) ने एनआरसी ( NRC ) , सीएए ( CAA ) से लेकर डिटेंशन सेंटर ( Detention Centre ) तक के बारे में बोला। यहां हुई रैली में पीएम ने कहा की देश में डिटेंशन सेंटर हैं, इसे लेकर झूठ बोला जा रहा है। जबकि यह सेंटर देश किसी ने नहीं देखे। उन्होंने यहां पर डिटेंशन सेंटर होने के दावे को खारिज किया, लेकिन क्या वाकई ऐसा है? यदि देश में डिटेंशन सेंटर नहीं होता तो सेना के पूर्व अधिकारी को इस सेंटर से बाहर आने के लिए हाइकोर्ट का सहारा क्यों लेना पड़ता? जबकि सही यह है कि असम में तो एक साल से डिटेंशन सेंटर चल रहे हैं। इसमें सेना में 30 साल तक नौकरी करने वाले अधिकारी सनाउल्लाह को भी विदेशी घोषित कर भेजा गया था। जून में गुवाहाटी हाईकोर्ट से बकायदा जमानत लेकर सनाउल्लाह को डिटेंशन से रिहाई मिली। इस मामले में हाईकोर्ट ने राज्य और केंद्र सरकार से जवाब भी मांगा था। डिटेंशन सेंटर के और सच को जाने, उससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का रामलीला मैदान में दिया गया बयान एक बार फिर सुनते हैं।